‘सुशांत सिंह राजपूत की हुई थी हत्या’, पोस्टमॉर्टम में मौजूद कूपर अस्पताल के स्टाफ का दावा

मुंबई. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के दो साल बाद, कूपर अस्पताल के एक कर्मचारी जो कि उनके पोस्टमॉर्टम के वक्त वहां मौजूद थे, ने अब दावा किया है कि बॉलीवुड एक्टर की मौत आत्महत्या से नहीं हुई, बल्कि उनकी हत्या की गई थी. हाल ही में एक साक्षात्कार में, मुंबई स्थित कूपर अस्पताल के मुर्दाघर में काम करने वाले रूपकुमार शाह ने भी यही दावा किया था और कहा था कि अभिनेता के शरीर और गर्दन पर कई निशान थे.

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून, 2020 को उपनगरीय बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे. रिया चक्रवर्ती पर सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने और उनकी संपत्ति का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया था. ‘मेरे डैड की मारुति’ और ‘जलेबी’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं रिया (29) को सुशांत की मृत्यु से जुड़े मादक पदार्थ तस्करी मामले में 28 दिनों तक जेल में रहना पड़ा था.

टाइम्सनाऊ डॉट कॉम के मुताबिक शाह ने टीवी9 को बताया, ‘जब सुशांत सिंह राजपूत का निधन हुआ, तो उस दौरान हमें पोस्टमॉर्टम के लिए कूपर अस्पताल में पांच शव मिले थे. उन पांच शवों में से एक वीआईपी शव था. जब हम पोस्टमॉर्टम करने गए तो पता चला कि वह वीआईपी शव सुशांत का था और उनके शरीर पर कई निशान थे. उनकी गर्दन पर भी दो से तीन निशान थे. पोस्टमॉर्टम को रिकॉर्ड करने की जरूरत थी, लेकिन उच्च अधिकारियों को केवल शरीर की तस्वीरें लेने के लिए कहा गया था. इसलिए, हमने सिर्फ उन्हीं आदेशों का पालन किया.’

vidh

इतना ही नहीं, पोस्टमॉर्टम करने वाले शख्स ने यह भी आरोप लगाया कि अधिकारियों को यह सूचित करने के बावजूद कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या हुई थी, उसे ‘नियमों के अनुसार’ काम करने के लिए कहा गया. शाह ने कहा, ‘जब मैंने पहली बार सुशांत के शरीर को देखा, तो मैंने तुरंत अपने वरिष्ठों को सूचित किया कि मुझे लगता है कि यह आत्महत्या नहीं, बल्कि एक हत्या है. मैंने उनसे यहां तक ​​कह दिया कि हमें नियम के मुताबिक काम करना चाहिए. हालांकि, मेरे वरिष्ठों ने मुझसे कहा कि जितनी जल्दी हो सके तस्वीरें खींचो और शव पुलिस को दे दो. इसलिए हमने पोस्टमॉर्टम रात में ही किया.’

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*