बड़े जलाशयों में क्यूआरटी से लेकर एनडीआरएफ की टीम भी रहेगी तैनात, आज और कल शहर में बड़े वाहनों की नो-इंट्री

JoharLive Team

  • महिला पुलिस के साथ सादे लिबास में कुछ पुलिसकर्मी रहेंगे सक्रिय

रांची : लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर राजधानी में पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किया है। महापर्व में कोई समस्या न आये, इसकों लेकर पुलिस पदाधिकारी अपने-अपने इलाके में नजर रखे हुये हैं। शहर के सभी छठ पूजा घाटों व आसपास के इलाके में करीब 60 दंडाधिकारियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की प्रतिनियुक्ति कर दी गयी है। शहर के छठ घाटों को छह जोन में बांट कर सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है। सभी डीएसपी व इंस्पेक्टरों को अपने-अपने इलाके में सक्रिय रहने का निर्देश मिला है। छठ घाटों पर महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखने की रणनीति तैयार की गयी है। मनचलों के साथ पुलिस सख्ती के साथ निबटेगी। इसके लिए शक्ति कमांडों को भी सक्रिय रहेंगी। पूजा के दौरान गली मोहल्लों की निगरानी के लिए टाइगर मोबाइल के अलावा अलग-अलग जरूरत के अनुसार मोटरसाइकिल दस्ता को सक्रिय कर दिया गया है। खासकर जब लोग अपने घरों पर ताला लगाकर छठ घाट पर चले जाते हैं, उस दारौन इन पुलिसकर्मियों को विशेष रूप से चौकन्ना और सक्रिय रहने का आदेश एसएसपी अनीष गुप्ता ने दिया है। इसके अलावा जिले में योगदान देने वाले सबइंस्पेक्टरों को भी छठ के सुरक्षा इंतजाम में लगाया गया है। इनमें काफी संख्या में महिला पदाधिकारी भी शामिल हैं। जोन एक में लाइन टैंक, जेल तालाब, करमटोली, हातमा, हटनिया तालाब, मधुकम तालाब, देवी मंडप रोड डैम, सरोवर नगर डैम साइड, बड़ा तालाब पूर्वी और पश्चिमी को रखा गया है। जोन दो में कांके डैम का उत्तरी व दक्षिणी छोर तथा मिशन गली डैम को शामिल किया गया है। जोन तीन में यूनिर्वसिटी कॉलोनी बरियातू तालाब, जोड़ा तालाब, न्यू कॉलोनी तालाब, दिव्यायन तालाब, पानी टंकी बूटी तालाब और तिरिल तालाब कोकर शामिल है। जोन चार में जगन्नाथपुर तालाब, शहीद मैदान तालाब (सेक्टर थ्री), धुर्वा डैम, सिंह मोड़ और हेसाग तालाब को शामिल किया गया है। जोन पांच में पावर हाउस चुटिया तालाब, बनस तालाब चुटिया और स्वणर्रेखा नदी घाघरा शामिल किया गया है। वहीं जोन छह में मधुकम तालाब, देवी मंडप रोड डैम और सरोवर नगर डैम साइड शामिल है। सभी जोन के लिए अलग से एक-एक दंडाधिकारी को जोनल प्रभारी बनाया गया है। राजधानी के चार बड़े जलाशयों में एनडीआरएफ की टीम भी बोट व लाइफ जैकेट के साथ सक्रिय रहेगी। एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट हरिचरण प्रसाद ने बताया कि इसके अलावा उनकी एक टीम रिजर्व में तैयार रहेगी, ताकि किसी भी सूचना पर उस टीम को तुरंत संबंधित जलाशयों तक भेजा जा सके। वहीं क्यूआरटी के जवान भी मुस्तैद रहेंगे। कंट्रोल रूम में भी क्यूआरटी तैयार रहने के लिए कहा गया है। इसके अलावा अन्य छोटे-छोटे जलाशयों पर सुरक्षा की जिम्मेवारी संबंधित थानों की पुलिस को दी गयी है। कुछ प्रमुख छठ घाटों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गये हैं। निगरानी रखने के लिए पुलिस अपने ड्रोन का भी उपयोग करेगी। सभी बड़े एवं प्रमुख घाटों पर बचाव के लिए पानी के अंदर बांस व रस्सी से बेरिकेडिंग भी किया गया है।

एनडीआरएफ टीम प्रभारियों के मोबाइल नंबर

एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट : 8544415065
कांके डैम के टीम कमांडर : 8544415067
बड़ा तालाब के टीम कमांडर : 8544415055
धुर्वा डैम के टीम कमांडर : 8544415062
चडरी तालाब के टीम कमांडर : 6296209224

आज और कल शहर में बड़े वाहनों की नो-इंट्री

छठ को लेकर शनिवार और रविवार को शहर के ट्रैफिक रूट में भी बदलाव रहेगा। दोनों दिन शहर में बड़ी गाड़ियों का प्रवेश वर्जित रहेगा। शनिवार को सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक और रविवार को तड़के दो से रात 10 बजे तक शहर में बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक रहेगा। छठ घाटों पर वाहनों के प्रवेश रोकने के लिए 17 स्थानों पर बैरिकेडिंग भी की गयी है। छठ पूजा के दौरान यातायात सुगम रहे, इसके लिए करीब 150 पुलिसकर्मियों को अलग से लगाया गया है। राजभवन के पास तीन तरफ से बैरियर लगाया गया है। बड़े वाहनों के आने-जाने के मार्ग व मोड़ पर ट्रैफिक पुलिस की तैनाती रहेगी, ताकि यातायात व्यवस्था का उल्लंघन नहीं हो। इसके अलावा 6 स्थानों पर ड्रॉप गेट भी लगाया गया है, ताकि छठ व्रतियों व श्रद्धालुओं को कोई परेशानी नहीं हो। ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग खुद यातायात व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे हैं और उन्होंने सभी डीएसपी और इंस्पेक्टर के अलावा सभी कनीय पदाधिकारियों को लगातार सक्रिय रहने का निर्देश दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*