भारत ने जिम्बाब्वे को 71 रन से हराया, सेमीफाइनल में पहुंची

नई दिल्ली. टी20 वर्ल्ड कप के 42वें मुकाबले में भारतीय टीम ने जिम्बाब्वे को 71 रन से हराया. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने सूर्यकुमार यादव और केएल राहुल के पचासे की मदद से जिम्बाब्वे के सामने 187 रन का लक्ष्य रखा.  जिम्बाब्वे की टीम 115 रन पर ही ऑलआउट हो गई. इस जीत के साथ भारतीय टीम अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहकर सेमीफाइनल में पहुंची है. अब 10 नवंबर को सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सामना इंग्लैंड की टीम से एडिलेड के मैदान पर होगा. भारीतय टीम ने सुपर 12 मुकाबले में पाकिस्तान, नीदरलैंड्स, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे को हराया. वहीं, दक्षिण अफ्रीका से उसे मात मिली थी.

लक्ष्य का पीछा करते हुए जिम्बाब्वे की शुरुआत अच्छी नहीं रही. भुवनेश्वर कुमार ने पहली ही गेंद पर वेस्ले मधेवेरे बिना खाता खोले ही आउट हो गए. अगले ही ओवर में अर्शदीप सिंह ने रेजिस चकाब्वा को शून्य पर आउट कर दिया. जिम्बाब्वे की तरफ से सिकंदर रजा (34) और रेयान बर्ल (35) ही थोड़ा संघर्ष कर पाए. भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन ने 22 रन देकर तीन विकेट झटके. हार्दिक पंड्या और मोहम्मद शमी ने दो-दो विकेट चटकाया. वहीं, भुवनेश्वर कुमार, अक्षर पटेल और अर्शदीप सिंह को एक-एक विकेट मिला.

सूर्यकुमार यादव का एक और ताबड़तोड़ पचासा
इससे पहले दुनिया के नंबर एक टी20 बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने तूफानी अर्धशतक जड़ा. इससे भारत ने रविवार को जिम्बाब्वे के खिलाफ आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के सुपर 12 चरण के अपने अंतिम मैच में पांच विकेट पर 186 रन बनाए. सूर्यकुमार ने 24 गेंदों पर चार छक्कों और छह चौकों से नाबाद 61 रन की पारी खेली. सूर्यकुमार की तूफानी बल्लेबाजी से भारत ने अंतिम पांच ओवर में 79 रन जोड़े. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज रिचर्ड नगारवा की गेंद पर सूर्यकुमार ने कुछ आकर्षक शॉट खेले. मुंबई के इस बल्लेबाज ने नगारवा के पारी के अंतिम ओवर में ऑफ साइड के बाहर की गेंद को डीप फाइन लेग पर छह रन के लिए भेजा और फिर पारी की अंतिम गेंद पर फाइन लेग पर छक्का जड़ा.

विराट कोहली नहीं खेल सके लंबी पारी
जिम्बाब्वे के बाएं हाथ के स्पिनरों वेलिंगटन मसाकाद्जा (दो ओवर में बिना विकेट के 12 रन), सिकंदर रजा (तीन ओवर में 18 रन पर एक विकेट) और सीन विलियम्स (दो ओवर में नौ रन पर दो विकेट) ने बीच के ओवरों में शानदार गेंदबाजी करके भारत की रन गति पर लगाम कसी. विराट कोहली (25 गेंद में 26 रन) को भी इस बीच अपने शॉट खेलने में परेशानी का सामना करना पड़ा. सूर्यकुमार और हार्दिक पंड्या (18 गेंद में 18 रन) ने हालांकि सिर्फ 5.5 ओवर में 65 रन जोड़कर भारत को मजबूत स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई.

कप्तान रोहित शर्मा ने अपना विकेट गंवाया
ब्लेसिंग मुजरबानी (चार ओवर में बिना विकेट के 50 रन), नगारवा (चार ओवर में एक विकेट पर 44 रन) और चतारा (चार ओवर में बिना विकेट के 34 रन) महंगे साबित हुए. इस तेज गेंदबाजी तिकड़ी ने मिलकर 12 ओवर में 138 रन लुटाए. भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. कप्तान रोहित शर्मा 15 रन बनाने के बाद मुजरबानी की गेंद को पुल करने की कोशिश में स्क्वायर लेग बाउंड्री पर मसाकाद्जा को कैच दे बैठे.

केएल राहुल ने जड़ा लगातार दूसरा पचासा
कोहली ने पहली ही गेंद पर मुजरबानी पर चौके से खाता खोला. उन्होंने मसाकाद्जा पर भी चौका जड़ा लेकिन पावरप्ले खत्म होने के बाद उन्हें स्पिनरों के खिलाफ रन बनाने में परेशानी हुई. कोहली अंतत: अनुभवी विलियम्स की गेंद पर लॉफ्टेड ड्राइव खेलने की कोशिश में रेयान बर्ल को लांग ऑफ पर कैच दे बैठे. उन्होंने 25 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे. नगारवा का पारी का पहला ही ओवर मेडन खेलने वाले राहुल ने इसी तेज गेंदबाज पर विकेट के पीछे छक्का जड़ा. दाएं हाथ का यह बल्लेबाज अच्छी लय में दिखा और उन्होंने टूर्नामेंट का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*