नाइजीरिया की तेल रिफाइनरी में विस्फोट, 100 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका

अबुजा: दक्षिण-पूर्व नाइजीरिया में एक अवैध तेल रिफाइनरी में विस्फोट में 100 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका है. एक स्थानीय तेल अधिकारी ने रविवार को कहा कि घटनास्थल पर शवों की तलाश तेज कर दी गई है और दो लोगों के विस्फोट में शामिल होने का संदेह है. नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी ने एक बयान में विस्फोट को तबाही और राष्ट्रीय आपदा बताया है. राज्य के अधिकारियों ने द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि इमो राज्य के ओहाजी-एग्बेमा स्थानीय सरकारी क्षेत्र में शुक्रवार की रात विस्फोट दो ईंधन भंडारण क्षेत्रों में आग लगने से हुआ था, जहां 100 से अधिक लोग काम कर रहे थे.

एक अधिकारी ने बताया कि दर्जनों मजदूर आग की चपेट में आ गए जबकि कईयों ने जंगल में भागकर बचने की कोशिश की. इमो के पेट्रोलियम संसाधन आयुक्त गुडलक ओपियाह ने बताया, इस आपदा में मरने वालों की संख्या 100 के आसपास है. कई लोग जलने के बाद झाड़ियों की तरफ भागे और वहां उनकी मौत हो गई. इमो के राज्य सूचना आयुक्त डेक्लान इमेलुम्बा ने कहा, अब तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है लेकिन दो संदिग्ध आरोपी फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है. हालांकि उन्होंने संदिग्धों की पहचान जाहिर नहीं की है. उन्होंने बताया कि धमाके में मारे गए लोगों को सामूहिक रूप से दफनाने की योजना बनाई जा रही है और उनमें से कई की पहचान नहीं की जा सकती.

एक प्रवक्ता के अनुसार नाइजीरियाई राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी ने देश के सुरक्षा बलों को दक्षिणी नाइजीरिया के कई हिस्सों में अवैध रूप से संचालित की जा रही रिफाइनरियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. हालांकि नाइजीरिया अफ्रीका में कच्चे तेल का सबसे बड़ा उत्पादक है, लेकिन कई सालों से इसकी तेल उत्पादन क्षमता में गिरावट आई है. नाइजीरिया में जनवरी 2021 और फरवरी 2022 के बीच कम से कम 3 बिलियन डॉलर का कच्चा तेल चोरी हुआ.

अवैध ऑपरेटर अक्सर दूरदराज के क्षेत्रों में रिफाइनरियों की स्थापना करके नियामकों से बचते हैं. इमो स्टेट कमिश्नर डेक्लन एमेलुम्बा ने कहा कि अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है, लेकिन पुलिस दो संदिग्धों की तलाश कर रही है. विस्फोट में मारे गए लोगों के लिए सामूहिक दफन की योजना बनाई जा रही है, जिनमें से कईयों की पहचान करना भी मुश्किल है. पर्यावरण अधिकारियों ने कहा कि अफ्रीका के सबसे अधिक आबादी वाले देश में ऐसी आपदाएं एक नियमित घटना है, जहां 33% गरीबी और बेरोजगारी ने लाखों युवाओं को आपराधिक गतिविधियों में जाने को मजबूर कर दिया है. अवैध रिफाइनरियों का संचालन इमो राज्य में उतना लोकप्रिय नहीं है जितना कि तेल समृद्ध नाइजर डेल्टा क्षेत्र में है.

जहां के आतंकवादी तेल पाइपलाइनों को उड़ाने और पेट्रोलियम कंपनियों के श्रमिकों के अपहरण के लिए कुख्यात हैं. नाइजीरिया के रक्षा विभाग ने कच्चे तेल की चोरी की रोकथाम के लिए एक टास्क फोर्स की घोषणा की थी और उसके केवल दो हफ्तों में नाइजर डेल्टा क्षेत्र में 30 अवैध तेल रिफाइनरियों का भंडाफोड़ किया गया. इमो राज्य में विस्फोट के बाद, नाइजीरियाई पेट्रोलियम मंत्रालय ने एपी को बताया कि तेल क्षेत्र में अवैध गतिविधियों से निपटने के लिए नए सिरे से कार्रवाई की गई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*