बोकारो : आजसू सांसद के समर्थकों पर मारपीट का आरोप, गुलजार रोड लाइंस के प्रोपराइटर को बनाया निशाना

बोकारोः गिरिडीह आजसू सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी के समर्थकों पर छत्तीसगढ़ कोरबा की कंपनी गुलजार रोड लाइंस के प्रोपराइटर गुलजार सिंह राजपूत के साथ मारपीट किए जाने का मामला सामने आया है. सांसद के समर्थकों ने गुलजार सिंह की इतनी बेरहमी से पिटाई की है कि उसे सदर अस्पताल बोकारो में भर्ती कराया गया है. पूरा मामला पैसों के लेनदेन का है.

सांसद के समर्थकों के द्वारा मारपीट किए जाने का वीडियो भी कंपनी के लोगों के द्वारा बनाया गया है. बोकारो में आजसू कार्यकर्ताओं ने कर्मचारियों से मारपीट की है. गिरिडीह आजसू सांसद के द्वारा छत्तीसगढ़ की रोड लाइंस कंपनी के कर्मियों से मारपीट का वीडियो सामने आया है. जिसमें सांसद के लोगों द्वारा सांसद से गुलजार सिंह को बात करने, उन्हें पैसे देने और नहीं देने पर जंगल में ले जाकर काटने की बात कही जा रही है.

इस दौरान गुलजार सिंह के साथ मारपीट हुई किए जाने का वीडियो में प्रमाण भी दिखाई दे रहा है. जनप्रतिनिधि के लोगों के द्वारा इस तरह की पिटाई हो जान मारने की धमकी देने के बाद कंपनी के मालिक और उसके स्टाफ डरे सहमे हुए हैं. इन लोगों ने प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है. वहीं कंपनी के मालिक गुलजार सिंह ने मारपीट और सार्वजनिक रूप से उनका अपमान करने की बात कही है और कहा कि इस अपमान के बाद हमें यह लगता है कि अब हम आत्महत्या कर लें.

कंपनी के मालिक गुलजार सिंह राजपूत और कंपनी के स्टाफ संजय सिंह ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि इन लोगों के द्वारा रंगबादारी की भी मांग की जाती है. कंपनी के लोगों को भी बिल लगाने से रोका जा रहा है और आज तो इन लोगों ने हद पार कर दी और जमीन में घसीटते हुए मारपीट भी की है. सांसद के समर्थकों ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोग यहां आकर काम करेंगे उन्हें काम नहीं करने दिया जाएगा.

लोगों का कहना है कि सांसद के आग्रह पर ही कंपनी के साथ काम करने का समझौता हुआ था. उनका अभी चंद्रपुरा थर्मल पावर प्लांट में 3 करोड रुपए की राशि बकाया है बिल मिलने पर ही सांसद को भुगतान कर दिया जाएगा जो पूरी तरह से ऑनलाइन है. इनका कहना है कि एक सांसद जो जनप्रतिनिधि होता है उनके लोग अगर इस तरह करेंगे तो आखिर में आए कहां मिलेगी.

जानकारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ कोरबा की कंपनी गुलजार रोड लाइंस में चंद्रपुरा के थर्मल पावर प्लांट में लगभग साढ़े पांच करोड़ का ठेका फरवरी 2021 में लिया था. जब कंपनी के मालिक गुलजार सिंह राजपूत काम के सिलसिले में चंद्रपुरा पहुंचे तो सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने उन्हें यह काम उनकी किसी फर्म को देने के लिए कहा. लेकिन इन लोगों ने पैसे लगाने के बाद ही काम देने की बात कही. इसके बाद चंद्रप्रकाश चौधरी के साथ गुलजार सिंह की कई दौर की बात हुई और रजरप्पा स्थित सांसद के कार्यालय में बैठकर डील फाइनल हुआ. इस दौरान चंद्र प्रकाश चौधरी के द्वारा फेयर डील नाम की कंपनी के साथ पार्टनरशिप करने के लिए डील किया गया. इस दौरान फेयर डील की ओर से डेढ़ करोड़ रुपए काम में लगाया गया और काम भी सुचारू रूप से चलता रहा.

हाल के दिनों में सांसद के द्वारा पैसे के लिए दबाव बनाए जाने लगा. इस दौरान गुलजार सिंह के द्वारा 26 लाख का भुगतान सांसद की इस कंपनी को किया गया. काम करने के बाद 3 करोड़ की रकम का बिल भुगतान के लिए यह लगा रहे थे. लेकिन सांसद के लोग बिल लगाने से मना कर रहे थे और पैसे की मांग कर रहे थे. इसी दौरान गुरुवार शाम जब कंपनी के प्रोपराइटर गुलजार सिंह और संजय सिंह चाय पीने के लिए अपने वाहन से निकले तो रास्ते में एक काली स्कॉर्पियो आकर रुकी और उसमें से बिगन महतो, विनोद महतो और अरविंद पांडे सांसद से बात कर पैसे देने की बात कहते हुए गाली-गलौच करते हुए मारपीट की और जंगल में ले जाकर काटकर फेंक देने की धमकी दी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*