हथियार सप्लाई मामले में एटीएस की बड़ी कार्रवाई, बीएसएफ के कांस्टेबल सहित 4 गिरफ्तार

रांची। झारखंड में नक्सलियों व अपराधियों को हथियार और गोली की सप्लाई करने वाले गिरोह के चार अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार अपराधी में बीएसएफ के कॉन्स्टेबल कार्तिक बेहरा, कुमार गुरलाल ओचेवारे, शिवलाल धवन सिंह चौहान और हिरला गुमान सिंह ओचवारे शामिल है। इनकी गिरफ्तारी बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र व पंजाब से हुई है। उक्त जानकारी आईजी अभियान अमोल वेणुकान्त होमकर ने प्रेसवार्ता में दी।उन्होंने कहा कि झारखंड पुलिस के लिए यह बड़ी सफलता है। इनलोगों के पास से एटीएस की टीम ने 14 पिस्टल, 21 मैगजीन, 8304 गोली, खाली खोखा, डेटोनेटर, बाइक और मोबाइल जप्त किया है।

पूर्व में सीआरपीएफ जवान समेत चार को एटीएस ने किया था गिरफ्तार

बताया जाता है कि पूर्व में हथियार और गोली की सप्लाई करने वाले सीआरपीएफ जवान सहित तीन लोगों को एटीएस ने मंगलवार (16 नवंबर) को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार लोगों में सीआरपीएफ जवान अविनाश कुमार उर्फ चुन्नू शर्मा (29), ऋषि कुमार (49) और पंकज कुमार सिंह (48) शामिल थे।

इनकी निशानदेही पर 5.56 एमएम की 450 राउंड गोली जब्त की गयी थी। इसके बाद एटीएस ने 18 नवंबर को धनबाद में कारवाई करते हुए पश्चिम बंगाल के चिरकुंडा के रहने वाले कामेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया था। उसके पास से दो पिस्टल, 14 कारतूस और तीन मैगजीन भी बरामद किया गया था.

गिरफ्तार हुए इन सभी आरोपियों के दिए सूचना के आधार पर एटीएस ने कार्रवाई करते हुए चार अन्य अपराधियों को गिरफ्तार किया है। अविनाश उर्फ चुन्नू सीआरपीएफ 182 में आरक्षी के रूप में पुलवामा में पदस्थापित था। वह छुट्टी पर घर आने के बाद चार माह से कार्य से अनुपस्थित था। वह वर्ष 2011 में मोकामा ग्रुप सेंटर में सीआरपीएफ में बहाल हुआ था। पूर्व में वह 112 बटालियन सीआरपीएफ लातेहार और 204 बटालियन कोबरा जगदलपुर में पदस्थापित रहा था।

पूछताछ में यह बात सामने आयी है कि आरोपियों द्वारा नक्सलियों को भारी संख्या में एके- 47 और इनसास राइफल उपलब्ध कराये गये हैं। इसके अलावा विभिन्न आपराधिक गिरोह, जिसमें अमन साहू गिरोह भी शामिल है, को भी हथियार और गोली उपलब्ध करायी गयी है। सीआरपीएफ जवान अविनाश अमन साहू के अलावा शेरघाटी जेल में बंद अपराधी हरेंद्र यादव और गया जेल में बंद लल्लू खान के संपर्क में था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*