मुजफ्फरपुर में पुलिस और बैंक लुटेरों में मुठभेड़, एक लुटेरा एनकाउंटर में मारा गया

मुजफ्फरपुर : मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में पचरुखी चौक स्थित बैंक ऑफ बड़ोदा को लूटने आधा दर्जन से अधिक की संख्या में बाइक और पिकअप सवार लूटेरे पहुंचे थे। हालांकि, पुलिस को पहले से इसकी सूचना थी। SSP जयंत कांत, मोतीपुर थानेदार अनिल कुमार समेत सभी पुलिसकर्मी सिविल ड्रेस में बैंक के अंदर और बाहर ग्राहक व स्थानीय के वेश में घूम रहे थे। इसी बीच आए लुटेरों में दो बाहर रुककर रेकी करने लगे और चार अंदर घुस पिस्टल लहराकर कैश काउंटर से लूटपाट का प्रयास करने लगे।

इसी दौरान पुलिस ने धावा बोल दिया। खुद को फंसता हुआ देख लुटेरों ने फायरिंग शुरू कर दिया। बैंक के भीतर दो राउंड फायरिंग करते हुए बाहर भागे। पुलिस की तरफ से भी जवाबी कार्रवाई में फायरिंग की गई।

एसएसपी ने खुद सम्भाला मोर्चा

दोनों तरफ से करीब डेढ़ दर्जन राउंड फायरिंग हुई। SSP जयंत कांत खुद टीम के साथ बाहर में लुटेरों से भिड़े हुए थे। ताबड़तोड़ फायरिंग हो रही थी। इसी दौरान एक गोली स्थानीय दुकानदार बुधन और युवक रोहित को लगी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एक लुटेरे को मार गिराया। अन्य तीन गोली लगने से घायल होकर गिर गए। वहीं दो लुटेरे मौके से फरार होने में सफल हो गए।

फिलहाल पुलिस टीम पूरे इलाके में सर्च अभियान चला रही है। घायल स्थानीय का इलाज़ बैरिया स्थित निजी अस्पताल में चल रहा है। रोहित को तीन गोली लगी है और दुकानदार को एक गोली पैर में लगी है। अपराधियों को SKMCH में लाया गया है।

पिकअप, बाइक और हथियार जब्त

SSP ने बताया कि पचरुखी चौक पर बैंक ऑफ बड़ौदा ब्रांच में लूट की योजना की सूचना पुलिस को सर्विलांस सेल के जरिए पूर्व से मिल चुकी थी। फायरिंग में कोई भी पुलिसकर्मी ज़ख़्मी नहीं हुआ है। बैंक में कैश बिल्कुल सुरक्षित है। पुलिस फरार अपराधियों की तलाश में छापेमारी कर रही है। मौके से लुटेरों की पिकअप, बाइक और पिस्टल व खोखा बरामद हुआ है।

घटना के बाद FSL की टीम बैंक में पहुंची। वहां से खून के नमूने साक्ष्य के तौर पर संकलन किया। बैंक मैनेजर सन्तोष कुमार ने बताया कि उस समय बैंक में छह स्टाफ मौजूद थे। कैश पूरी तरह सुरक्षित है। लेकिन, कितना कैश था। इसकी जानकारी नहीं दी है।

मुज़फ़्फ़रपुर के ही रहने वाले अपराधी

पुलिस ने अबतक अपराधियों के नाम-पते का सत्यापन नहीं किया है। प्रारम्भिक जांच में मुज़फ़्फ़रपुर जिले के ही सभी अपराधी बताए जा रहे हैं। SSP ने कहा कि करीब 10 मिनट तक दोनों तरफ से फायरिंग हुई है। गोली कितनी राउंड चली है, इसका आकलन किया जा रहा है।

गोली कहां से लगी, पता नहीं चला

दुकानदार बुधन ने बताया कि गोलीबारी हो रही थी। तभी अचानक से एक गोली उनके पैर में लगी। उन्हें लगा कि किसी ने चींटी काट लिया है। जब हाथ लगाया तो खून बह रहा था। इसके बाद वे चिल्लाने लगे। वहीं बताया जा रहा है रोहित छिपकर फायरिंग की घटना देख रहा था। तभी दनादन तीन गोलियां उसे पेट और इसके आसपास लगी। वह वहीं पर गिर गया। पुलिस ने दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इनदोनों को किसकी तरफ से चली हुई गोली लगी है। यह कहना मुश्किल है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*