इम्युनिटी बूस्टर है सौंफ की चाय, जानें इसके फायदे

Fennel Tea : दिन की शुरुआत आमतौर पर एक गरमा-गरम चाय की प्याली के साथ ही होती है. ऐसे में अगर चाय की चुस्की में बेहतर सेहत का फॉर्मूला भी एड हो जाए तो क्या कहने. ग्रीन टी, हर्बल टी का इस्तेमाल तो सामान्य तौर पर किया जाता है लेकिन अगर आपने कई गुणों से भरपूर सौंफ की चाय का अब तक स्वाद नहीं लिया है तो इसे भी अब अपनी च्वाइस लिस्ट में शामिल कर लें. सौंफ सामान्य तौर पर माउथ फ्रेशनर के तौर पर इस्तेमाल होती है, वहीं कुछ घरों में इसका इस्तेमाल खाने का जायका बढ़ाने में भी किया जाता है लेकिन फिर भी ज्यादातर लोग सौंफ के असल फायदों से अब भी अनजान हैं.

सौंफ में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो आपका कई गंभीर रोगों से बचाव कर सकते हैं. इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज भरपूर होती हैं. इसके साथ ही फाइबर, अमीनो एसिड, जिंक, पोटेशियम, मैग्नीशियम भी सौंफ में पाया जाता है. कई लोगों को सौंफ खाना पसंद नहीं होता है, ऐसे में इसकी चाय बनाकर पीने से इसके फायदा लिया जा सकता है.

इम्युनिटी बूस्टर है सौंफ की चाय
कोरोना महामारी के आने के बाद से ही लोग अपनी इम्युनिटी को मजबूत करने के प्रति जागरुक हो गए हैं. ऐसे में सौंफ की चाय पीना काफी फायदेमंद हो सकता है. इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व और विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है. सौंफ में मौजूद सेलेनियम की से टी-सेल्स बनने में मदद मिलती है. एंटीमाइक्रोबियल गुण की वजह से सौंफ की चाय इम्यूनिटी बूस्टर बन जाती है.

वजन घटाने, ब्लड प्रेशर में है फायदेमंद
सौंफ में फाइबर की मात्र अधिक होती है, इसके चलते यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार साबित होती है. इससे हार्ट डिजीज का खतरा भी कम हो सकता है. यह ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करती है. जो लोग अपने वजन को कम करना चाहते हैं उन्हें सौंफ की चाय रोजाना सुबह पीनी चाहिए. इससे ग्लूकोज लेवल कंट्रोल रहता है और वजन भी नहीं बढ़ता. यह चाय ज्यादा भूख लगने की समस्या को भी दूर करती है.

ज्यादातर लोग किसी न किसी वजह से पेट की समस्या से पीड़ित रहते हैं, ऐसे लोगों को दूध की चाय की बजाय सौंफ की चाय पीना चाहिए. सौंफ में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. यह चाय कब्ज, एसिडिटी, डायरिया जैसी समस्या में लाभ पहुंचाती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*