शिक्षा जलवायु को लेकर जागरूकता बढ़ाने का बेहतर माध्यम : भूमि

Joharlive Desk

मुंबई। अभिनेत्री और पर्यावरणवादी भूमि पेडनेकर को लगता है कि शिक्षा जलवायु संरक्षण को लेकर जागरूकता बढ़ाने का महत्वपूर्ण चैनल है। भूमि ने कहा, “हम जो बदलाव देख रहे हैं वे वास्तविक हैं और इसमें कोई शक नहीं है कि यह हमारी सभ्यता के लिए बड़ा खतरा हैं। इस साल हमने ऑस्ट्रेलियाई बुशफायर को 18 मिलियन हेक्टेयर जमीन जलाते देखा है। इसमें एक अरब जानवर मारे गए और देश में कई लुप्तप्राय प्रजातियों विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गईं।
उन्होंने आगे कहा, रूस के आर्कटिक क्षेत्र में तेल रिसाव हुआ, उत्तराखंड के जंगल में 51 हेक्टेयर भूमि जली। पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवात अम्फन का सामना किया। इससे पश्चिम बंगाल में 86 मौतें हुईं। कैलिफोर्निया के जंगल की आग में 31,54,107 एकड़ जमीन जल गई।
भूमि ने कहा, जलवायु परिवर्तन के प्रभाव नजर आ रहे हैं। ये और भी भयानक हो जाएंगे यदि हम इसे रोकने के लिए काम नहीं करेंगे। हम सभी को इसके लिए साथ आने की जरूरत है ताकि हम आने वाली पीढ़ियों के लिए समद्धि छोड़ सकें। इस लक्ष्य को पाने के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण चैनल है। बता दें कि अभिनेत्री वैश्विक स्तर पर की गई एक पहल क्लाइमेट एक्शन प्रोजेक्ट के साथ काम कर रही हैं, जिसकी पहुंच 107 देशों में 1 करोड़ छात्रों तक है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*