तब्लीगी जमातियों के संपर्क में आने वालों का युद्ध स्तर पर पता लगायें राज्य: केन्द्र

Joharlive Desk

नयी दिल्ली। केन्द्र ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा है कि तब्लीगी जमातियों के देश के अलग हिस्सों में जाकर लोगों से मिलने के कारण कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को रोकने के प्रयासों को ठेस लग सकती है इसलिए इनका पता लगाने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान शुरू किया जाना चाहिए।
कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों के साथ आज यहां वीडियो कान्फ्रेन्स के जरिए कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की। यहां निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज में एक आयोजन में बड़ी संख्या में देश और विदेश के लोगों के हिस्सा लेने और बाद इनमें से कई लोगों के विभिन्न राज्यों में जाने के खुलासे के मामले का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम से देश में कोरोना वायरस से निपटने के लिए किये जा रहे प्रयासों को ठेस लग सकती है। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों को इन तब्लीगी जमातियों की पहचान कर उनसे मिलने वाले लोगों का युद्ध स्तर पर पता लगाना होगा।
उन्होंने कहा कि तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले विदेशियों ने वीजा नियमों का उल्लंघन किया है। राज्यों से कहा गया है कि वीजा नियमों का उल्लंघन करने वाले विदेशियों और तब्लीगी जमात का आयोजन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू करें।

कैबिनेट सचिव ने राज्यों से कहा कि वे अगले सप्ताह तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को लागू करें। इसके तहत लाभार्थियों को नकद राशि दी जायेगी और यह प्रक्रिया इस तरह से पूरी की जानी चाहिए कि परस्पर सामाजिक दूरी बनाकर रखी जाये।
बैठक में इस बात पर संतोष व्यक्त किया गया कि देश भर में पूर्णबंदी प्रभावशाली ढंग से लागू की जा रही है। राज्यों से कहा गया कि वे एक-दूसरे के यहां से माल ढुलाई सुनिश्चित करें लेकिन इसमें भी सामाजिक दूरी बनाये रखने पर जोर देना होगा। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये और आपूर्ति श्रृंखला को किसी भी स्थिति में टूटने नहीं दिया जाना चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*